विरोधियों को फंसाने की नियत से एक व्यक्ति ने अपने ही भाई को मारी थी गोली, इलाज दौरान मौत चित्रपरिचय रू- पुलिस की गिरफ्त में हत्यारा भाई।

रेउसा (सीतापुर)।(आरएनएस ) थाना क्षेत्र के एक गांव में अपने विरोधियों को साजिशन फंसाने की नियत से नशे में धुत एक व्यक्ति ने अपने ही भाई को मारी थी गोली जिसकी इलाज के दौरान मौत हो गई थी। क्षेत्र के बढ़ईडीह मजरा गोधनी सरैंया में हुई इस घटना के आरोपी सिपाही लाल सहित उसके दो सहयोगियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। उल्लेखनीय है कि बीते दिनों क्षेत्र के बढ़ईडीह मजरा गोधनी सरैंया निवासी सर्वेश पुत्र मैकू को जहांगीराबाद से वापस आते समय गोधनी सरैंया चैराहे के निकट अज्ञात हमलावरों ने गोली मार दी थी। घायलावस्था में सर्वेश को इलाज हेतु जिला अस्पताल ले जाया गया था जहाँ उसकी मौत हो गयी थी। जिसको लेकर मृतक के भांजे उमेश द्वारा गांव के ही तीन व्यक्तियों को नामजद किया गया था। पुलिस मामले की छानबीन कर रही थी। घटना को लेकर शुरुआती दौर से ही मृतक के भांजे के बयानों को पुलिस संदिग्ध मानकर जांच पड़ताल कर रही थी। जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि गांव की एक महिला द्वारा मृतक सर्वेश व भाई सिपाही लाल और एक अन्य व्यक्ति पर उसके अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया गया था। उक्त मामले में अपने को फंसता देखकर इन लोगों ने विरोधियों को फंसाने के लिए एक राय होकर सिपाही लाल द्वारा अपने भाई सर्वेश के कंधे पर गोली मारकर महिला पक्ष के तीन लोगों को नामजद किया गया था। पुलिस ने इसी मामले की जांच पड़ताल के दौरान सिपाही लाल पुत्र मैकू निवासी बढ़ईडीह थाना रेउसा को शुक्रवार को सुबह गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक अदद देशी तमंचा बारह बोर एक खोखा व दो जिंदा कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया। साथ ही उसके दो अन्य सहयोगियों रामलाल उर्फ लाल पुत्र सम्भू निवासी महंतपुरवा मजरा नसीरपुर देवरिया थाना थानगांव को एक अदद देशी तमंचा बारह बोर व दो जिंदा कारतूस एवं देशराज पुत्र स्व. हुसैनी यादव को चंदौली भऋे के पास से गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। पकड़े गये आरोपियों ने अपना गुनाह कबूल किया है। एक आरोपी रामलाल पर पंद्रह हजार रुपये का इनाम भी घोषित था। गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक नोवेन्द्र सिंह सिरोही, एसआई आलोक धीमान, अजय दुबे, का0 अमरनाथ सरोज, कृपाशंकर, प्रमोद पांडेय व का. आलोक कुमार शामिल रहे।


Popular posts