रामलला का अस्थायी मंदिर होगा बुलेटप्रूफ


अयोधय।रामजन्भूमि परिसर में विराजमान रामलला का अस्थायी मंदिर बुलेटप्रूफ होगा। सरकार द्वारा बुलेटप्रूफ फाइबर का अस्थायी राममंदिर बनवा रहा है।  एक सप्ताह के अन्दर इसे अयोध्या लाने की तैयारी है।
बताते चलेें कि रामलला की सुरक्षा पर 6 दिसंबर 1992 के बाद सरकार हर साल करोड़ों रुपये खर्च करती आ रही है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद सरकार ने रामलला का भव्य मंदिर बनाने के साथ संपूर्ण अधिगृहित करीब 70 एकड़ जमीन स्वायत्तशासी ट्रस्ट श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को सौंप दी मगर, रामलला की सुरक्षा केंद्रीय गृह मंत्रालय के पास ही है। सुरक्षा का पहला घेरा पुलिस, दूसरा पीएसी और आखिरी घेरा व गर्भगृह केंद्रीय सुरक्षा बल संभालते हैं, कमांडेंट स्तर के आईपीएस अधिकारी इसके प्रमुख हैं। वहीं श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के ट्रस्टी डॉ. अनिल मिश्र कहते हैं कि अस्थायी मंदिर कहां बन रहा है, इसे सरकार ने गोपनीय रखा है। राममंदिर निर्माण शुरू करने के लिए रामलला को नवरात्र से पहले जन्मभूमि से करीब 250 मीटर पूरब शिफ्ट करने के लिए चबूतरे व दर्शन मार्ग का निर्माण कराया जा रहा है, जिसकी सुरक्षा संबंधी सभी जांच-पड़ताल आदि पुलिस व केंद्रीय बल के अधिकारी देखते हैं। ट्रस्ट की हर हाल में नवरात्र पूजा नए अस्थायी मंदिर में करने की तैयारी है।  नए मंदिर में रामलला के दर्शन का खाका ऐसा तय हुआ है कि भक्तों को परिक्रमा की सुविधा तीन तरफ से ही मिल सकेगी। दर्शन मार्ग से आते वक्त एक तरफ से दर्शन करते हुए रामलला के समक्ष पहुंचेंगे, फिर तीसरे तरफ से दर्शन करते हुए बाहर निकल जाएंगे।


Popular posts